अब झारखंड में सार्वजनिक स्थानों पर थूकने या धूम्रपान करने पर 1000 रुपये का जुर्माना देना होगा

झारखंड सरकार ने सार्वजनिक जगहो पर थूकने तथा धूम्रपान करने पर जुर्माने में संशोधन करने के लिए चल रहे बजट सत्र में एक विधेयक पारित किया है।

नया प्रावधान प्रवर्तन एजेंसियों के लिए उन लोगों पर 1000 रुपये का जुर्माना लगाने का मार्ग प्रशस्त करेगा, जो सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान या थूकते हुए पकड़े जाते हैं। इससे पहले समान अपराध के लिए जुर्माना 200 रुपये था।

सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद (व्यापार और वाणिज्य, उत्पादन और आपूर्ति और वितरण का विनियमन), झारखंड संशोधन विधेयक, 2021 में संशोधन विधानसभा द्वारा चल रहे बजट सत्र के दूसरे दिन किया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस विधेयक को पेश किया गया था।

धूम्रपान और सार्वजनिक रूप से थूकने पर लगाए जाने वाले जुर्माने को बढ़ाने के प्रावधान और बिल पर बोलते हुए, स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी उल्लेख किया कि 21 वर्ष से कम उम्र के उपभोक्ता को तंबाकू बेचना दंडनीय अपराध होगा। उन्होंने विधायक लम्बोदर महतो के प्रस्ताव को ठुकरा दिया, जो 10,000 रुपये का जुर्माना लगाना चाहते थे।

पिछले महीने, झारखंड कैबिनेट ने राज्य में हुक्का बार पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। निर्णय के अनुसार, नियम तोड़ने वालों को जेल की सजा या 1 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है।

राज्य मंत्रिमंडल ने पहले के एक आदेश को भी मंजूरी दे दी, जो शिक्षण संस्थानों, धार्मिक स्थलों और अदालतों के 100 मीटर के दायरे में तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाता है। इन सभी प्रावधानों को 2003 के COTPA अधिनियम के तहत संशोधित किया गया है।

धूम्रपान कानून को संशोधित करने के अलावा, दूसरी छमाही में विधानसभा ने एक और अधिनियम में भी बदलाव किया, जिसमें झारखंड माल और सेवा कर संशोधन विधेयक तथा झारखंड हरित ऊर्जा उपकर विधेयक 2021 शामिल था।

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap